घर बैठे डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र कैसे बनाये ? How to Make DIGITAL LIFE CERTIFICATE ONLINE - Government Staff

Live Cricket Score

November 09, 2020

घर बैठे डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र कैसे बनाये ? How to Make DIGITAL LIFE CERTIFICATE ONLINE

घर बैठे डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र कैसे बनाये ? How to Make DIGITAL LIFE CERTIFICATE ONLINE


पेंशनभोगियों को नियमित पेंशन के लिए लाइफ सर्टिफिकेट 'जीवन प्रमाण पत्र' देना जरूरी है। नवंबर में हर साल व्यक्तिगत रूप से पेश हो कर 'जीवन प्रमाण पत्र' देना होता है। 'लाइफ सर्टिफिकेट' ऑनलाइन भी जेनरेट किया जा सकता है। पेंशनर्स एक सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन और सुरक्षित आधार आधारित बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन सिस्टम का उपयोग करके डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र तैयार कर सकते हैं। डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट आवश्यक होने पर पेंशनर और पीडीए द्वारा एक्सेस किया जा सकता है।

 

'डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र' बनाने के लिए क्या जरूरी है

 

पेंशनभोगी के पास आधार संख्या होनी चाहिए।

पेंशनभोगी के पास एक मौजूदा मोबाइल नंबर होना चाहिए।

प्रमाण पत्र के लिए पेंशनभोगियों को पहले 'जीवन प्रमाण' के साथ रजिस्टर करना जरूरी है।

कैसे करें रजिस्टर

 

 

 

 

ऐसे होगा पंजीकरण

ऑनलाइन लाइफ सर्टिफिकेट (Life Certificate) जमा कराने के लिए पहली बार पेंशनधारकों को बैंक, पोस्ट ऑफिस या किसी दूसरी सरकारी एजेंसी द्वारा चलाए जा रहे जीवन प्रमाण सेंटर के जरिए डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना आनिवार्य है। आवेदक यदि चाहें तो कंप्यूटर, मोबाइल या टैबलेट के जरिए क्लाइंट एप्लीकेशन डाउनलोड करके भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जीवन प्रमाण पत्र आधार (Aadhaar) आधारित डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट है।

 

स्टेप 1: सबसे पहले 'जीवन प्रमाण' ऐप डाउनलोड करें और इसे खोलें।

स्टेप  2: अब, नए रजिस्ट्रेशन पर जाएं।

स्टेप  3: आधार नंबर, बैंक खाता संख्या और नाम, मोबाइल नंबर, पेंशन भुगतान आदेश (पीपीओ) दर्ज करें।

स्टेप  4: OTP सेंड पर क्लिक करें। आपके नंबर पर एक ओटीपी मिलेगा।

 

स्टेप  5: 'ओटीपी' दर्ज करें और आधार का उपयोग करके प्रमाणित करें।

स्टेप 6: अब, सबमिट पर क्लिक करें। सत्यापन के बाद, एक प्रमाण ID जनरेट होगी।

 

 

ऑनलाइन 'लाइफ सर्टिफिकेट' कैसे जनरेट करें

डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट (Digital Life Certificate) बनवाने के लिए बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन (Biometric Verification) कराना अनिवार्य है। इसके बाद पेंशन वाले बैंक अकाउंट से जुड़ी डिटेल्स भी देनी होगी। डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट को आधार नंबर से तभी ऑथेंटिकेट किया जा सकता है, जब पेंशनर का अकाउंट आधार नंबर से लिंक हो। डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा होने के बाद पेंशनर के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS आता है। इसमें एक ट्रांजेक्शन आईडी रहती है, जिससे पेंशनर www.jeevanpramaan.gov.in से कंप्यूटर जनरेटेड लाइफ सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं।

स्टेप  1: प्रमाण ID और OTP का उपयोग करके 'जीवन प्रमाण' ऐप में प्रवेश करें।

स्टेप 2:: 'Generate Jeevan Pramaan' चुनें और आधार नंबर, मोबाइल नंबर डालें।

स्टेप 3: जेनरेट ओटीपी पर क्लिक करें।

स्टेप  4: OTP प्राप्त होते ही, इसे दर्ज करें।

स्टेप  5: पीपीओ नंबर, नाम, पैसे देने वाले एजेंसी का नाम आदि दर्ज करें।

स्टेप  6: फिंगरप्रिंट/आईरिस को स्कैन करें और आधार डेटा का उपयोग करके इसे प्रमाणित करें। जीवन प्रमाण स्क्रीन पर दिख जाएगा और पेंशनर के मोबाइल नंबर पर एक पुष्टि का संदेश भेजा जाएगा।


No comments:

Post a Comment