अर्धसैनिक बलों के जवानों को बड़ी सौगात, छुट्टियों और पोस्टिंग के नियमों में हुआ सकारात्मक बदलाव | Latest News for Government Employees | 7th Pay Commission Latest News - Government Staff

Live Cricket Score

October 20, 2019

अर्धसैनिक बलों के जवानों को बड़ी सौगात, छुट्टियों और पोस्टिंग के नियमों में हुआ सकारात्मक बदलाव | Latest News for Government Employees | 7th Pay Commission Latest News

अर्धसैनिक बलों के जवानों को बड़ी सौगात, छुट्टियों और पोस्टिंग के नियमों में हुआ सकारात्मक बदलाव

Change in Leave and Posting Rules for Central Armed Police Forces (CAPF)


रक्षकों को गृहमंत्री ने दी ये बड़ी राहत

गृहमंत्री अमित शाह ने केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के उच्च अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे दो महीने के भीतर ऐसी व्यवस्था बनाएं, ताकि जवान एक साल में 100 दिन अपने परिवार के साथ छुट्टी बीता सकें।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने देश के पैरामिलिट्री फोर्स (अर्धसैनिक बल) के जवानों के लिए बड़ी घोषणा की है। उन्होंने ऐलान किया है कि जवानों को साल में 100 दिन की छुट्टी दी जाए, ताकि वे अपना ज्यादा समय अपने परिजनों के साथ बीता सकें। इसके लिए उन्होंने सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs) और असम राइफल्स के उच्च अधिकारियों को व्यापक योजना बनाने को कहा है।
Change in Leave and Posting Rules for Central Armed Police Forces (CAPF)

Change in Leave and Posting Rules for Central Armed Police Forces (CAPF)


Digital Posting System

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सभी डायरेक्टर जनरल्स को दिशा-निर्देश दिया है कि वे जवानों की तैनाती के विवरण के डिजिटल बनाएं, ताकि हर एक जवान को अपने परिवार के साथ साल में 100 दिन तक रहने की सुविधा मिल सके। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय गृहमंत्रालय ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF), सीमा सुरक्षा बल (BSF), केंद्रय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP), सशस्त्र सीमा बल (SSB) और असम राइफल्स के प्रमुखों एवं महानिदेशकों को इस योजना को लागू करने को कहा गया है। मीडिया रिपोर्ट में पैरामिलिट्री फोर्स से जुड़े अधिकारियों का कहना था कि जवानों को नजदीकी यूनिट में तैनाती की जाएगी और विशेष अनिवार्यता नहीं रहने पर उन्हें समय-समय पर परिवार के साथ समय बीताने जा सकेंगे।

यह भी देखें - अर्धसैनिक बालों की रिटायरमेंट उम्र मे हुआ बदलाव

More Transparancy in Postings/Transfers

इस बीच अधिकारियों का कहना है कि जब जवानों की तैनाती का डाटा डिजिटल हो जाएगा तो इनकी तैनाती और ट्रांसफर में काफी सहूलियत हो जाएगी। इसके जरिए छुट्टी और तैनाती के संबंध में जवानों की शिकायतें भी दूर की जा सकेंगी। जानकारी के मुताबिक इस प्रक्रिया को लागू करने के लिए दो महीने का वक्त दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि वर्तमान नियमों के मुताबिक एक जवान औसतन अपने परिवार के साथ साल में 75 से 80 दिन बीताते हैं। इनमें 60 दिन उनकी वार्षिक अवकाश (Annual Leave) होती है, जबकि 15 दिन आकस्मिक अवकाश (Casual Leave ) होती है (इसमें वीकेंड और हॉलिडे शामिल नहीं है)। जवानों को उनके दो बच्चों तक पैटरनल लीव 15 दिनों की मिलती है।

गौरतलब है कि सीमा सुरक्षा बल के पूर्व प्रमुख केके शर्मा ने पीटीआई से बातचीत में पिछले साल कहा था कि अर्धसैनिक बलों के जवानों को साल में औसतन 75 दिन ही परिवार के साथ रहने को मिलता है और यदि 30 साल की सर्विस का आंकलन किया जाए तो वे सिर्फ पांच साल ही अपने परिवार के साथ समय बीता पाते हैं।

No comments:

Post a Comment