ये होगी देश की पहली प्राइवेट ट्रेन , इस रुट पे चलेगी , ये होगा टाइम टेबल | Latest News for Government Employees | 7th Pay Commission Latest News - Government Staff

Live Cricket Score

July 13, 2019

ये होगी देश की पहली प्राइवेट ट्रेन , इस रुट पे चलेगी , ये होगा टाइम टेबल | Latest News for Government Employees | 7th Pay Commission Latest News

ये होगी देश की पहली प्राइवेट(निजी ऑपरेटर) ट्रेन , इस रुट पे चलेगी , ये होगा टाइम टेबल , First Private Train in Indian Railway, Time Table & Route , details inside...

निजी हाथों में सौंपी जानी वाली पहली ट्रेन होगी लखनऊ-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस
निजी ऑपरेटर के संचालन में चलने वाली पहली यात्री ट्रेन तेजस एक्सप्रेस जल्द ही लखनऊ और नई दिल्ली के बीच दौड़ेगी. मुसाफिरों को आधुनिक सुविधाएं देने के लिए भारतीय रेल ने ट्रायल बेसिस पर यह ट्रेन आईआरसीटीसी को देने का फैसला किया है. लखनऊ से नई दिल्ली से बीच ये ट्रेन इस रूट पर चलने वाली स्वर्ण शताब्दी के मुकाबले अलग समय पर चलेगी. ट्रेन में मिलने वाली सुविधाओं की बात करें तो इसमें लगी होंगी आधुनिक आरामदायक सीटें, एलईडी लाइटें, बॉयो टॉयलेट, सेंसर वाले टैप, सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे और मेट्रो ट्रेनों की तरह ऑटोमेटिक दरवाज़े

हवाई जहाज जैसी सुविधाओं से लैस होगी निजी तेजस एक्सप्रेस
आधुनिक सुविधाओं से लैस इस ट्रेन में लगी होंगी आधुनिक आरामदायक सीटें, एलईडी लाइटें, बॉयो टॉयलेट और सेंसर वाले टैप. ट्रेन के अंदर कहीं से भी नहीं आएगी धूल. अटेंडेंट को बुलाने के लिए बटन, सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे और मेट्रो ट्रेनों की तरह ऑटोमेटिक दरवाज़े.

ये है इस ट्रेन के नई दिल्ली और लखनऊ पहुंचने का समय 
सूत्रों के मुताबिक 12585 तेजस एक्सप्रेस ट्रेन सुबह 6:50 पर लखनऊ से निकलेगी और दोपहर 1:35 पर नई दिल्ली पहुंचेगी. जबकि वापसी में यह ट्रेन (12586) दोपहर बाद 3:35 पर नई दिल्ली से निकलकर 10:05 पर लखनऊ पहुंचेगी. हालांकि सुबह 4:55 पर लखनऊ से आनंद विहार के बीच डबल डेकर ट्रेन पहले से ही चल रही है लेकिन यह बरेली मुरादाबाद होते हुए दिल्ली आती है इसलिए रेलवे को उम्मीद है कि कम समय लेने की वजह से तेजस एक्सप्रेस ट्रेन में भी मुसाफिर रूचि लेंगे.

शताब्दी के मुकाबले महंगा होगा किराया
इन तमाम सुविधाओं के लिए मुसाफिरों को अतिरिक्त किराया देना पड़ सकता है. फ़िलहाल तेजस एक्सप्रेस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस के किराये से करीब 20 फीसदी ज़्यादा है. माना जा रहा है कि irctc जल्द ही किराये, खान-पान, रेलवे को चुकाने वाले हॉलेज चार्ज वगैरह के बीच संतुलन बनाते हुए इसका टेंडर जारी करेगा. जिस भी प्राइवेट पार्टी को ये ट्रेन सौंपी जाएगी वो रेलवे के रिज़र्वेशन सिस्टम पर टिकट बुक करवा सकेगा. ट्रेन में ड्राइवर और गार्ड भारतीय रेल का होगा जबकि टीटीई की जगह ट्रेन सुपरवाइजर मौजूद होगा जो कि प्राइवेट पार्टी का होगा.

No comments:

Post a Comment